Khan Sir Patna Biography in Hindi. खान सर पटना की बायोग्राफी हिंदी में।

Khan Sir Bio/Wiki in Hindi खान सर पटना बायो/विकी:

Khan Sir खान सर पटना एक भारतीय शिक्षक है जो अपने देसी अंदाज से जनरल साइंस की जटिल से जटिल समस्या को चुटकियों में समझा देते हैं। वह अपने पढ़ाने के अनोखे अंदाज के कारण देश और दुनियाभर में फेमस हैं। यूट्यूब की दुनिया के चर्चित शिक्षकों में से एक पटना वाले खान सर का जन्म दिसंबर 1993 को भाटपार रानी, देवरिया, उत्तर प्रदेश में हुआ था। Khan Sir real name खान सर का वास्तविक नाम फैज़ल खान हैं। उन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा देवरिया के भाटपार रानी में स्थित परमार मिशन स्कूल से प्राप्त की थी। जब वह अपनी आठवीं कक्षा में थे तभी उनके अंदर देशप्रेम जाग उठा, जिसकी वजह से वह सेना में शामिल होकर देश की सेवा करना चाहते थे। उन्होंने आठवीं कक्षा के बाद सैनिक स्कूल में दाखिला लेने के एंट्रेंस एग्जाम दिया लेकिन वह असफल रहे।

जिसके बाद उन्होंने हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी की। वह सेकेंडरी लेवल से ही एनसीसी का हिस्सा रहे थे जिससे की उनको भारतीय फौज के बारे में और अच्छे से जानने का मौका मिला। एनसीसी ज्वाइन करने के बाद वह फौज में जाने को काफी इच्छुक थे जिसके लिए इंटरमीडिएट के बाद उन्होंने नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) का एंट्रेंस एग्जाम दिया था। शुरू से ही पढ़ाई में अव्वल होने के कारण उन्होंने एनडीए की परीक्षा पास कर ली लेकिन दुर्भाग्य से वह चयनित नहीं हुए। परीक्षा पास करने के बाद वह अपने हाथ टेढ़ा होने के कारण शारीरिक दक्षता परीक्षण में असफल हो गए थे। मेडिकली अनफिट होने के कारण फौज में जाने का उनका यह सपना पूरा नहीं हो सका।

इसके बाद वह इलाहाबाद (अब प्रयागराज) चले गए जहा उन्होंने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से बैचलर ऑफ साइंस (बी. एससी) की डिग्री हासिल की थी। ग्रेजुएशन की पढ़ाई के दौरान उन्हें फाइनेंशियली काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लेकिन अपने 3 दोस्त सोनू, पवन और हेमंत (Khan Sir friends) के सहयोग की मदद से उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन पूरी की। उनके तीनों दोस्त अपने पॉकेट मनी से उनकी सहायता किया करते थे। हालांकि उनके दोस्त हेमंत की भी फाइनेंशियली हालत उतनी ठीक नहीं थी जिसको सही करने के लिए वह छोटे क्लास के बच्चों को ट्यूशन भी पढ़ाया करता था। खान सर की भी आर्थिक हालत ठीक न होने की वजह से वह भी अपने दोस्त हेमंत की वजह से टीचिंग लाइन में जुड़ गए।

अब वह अपने दोस्त हेमंत के साथ छोटे क्लास के बच्चों को ट्यूशन देने लगे जिससे उनकी आर्थिक समस्या काफी हद तक कम हो गई थी। खान सर जिस लड़के को होम ट्यूशन दिया करते थे वह पढ़ने में काफी कमजोर हुआ करता था लेकिन उनसे ट्यूशन पढ़ने के बाद वह क्लास में अव्वल आने लगा जिसके बाद लड़के के माता पिता उनसे बहुत खुश हुए। अपने दोस्त हेमंत की वजह से Khan Sir खान सर एक छोटे से कोचिंग में बतौर शिक्षक शामिल हुए। जब वह पहली बार कोचिंग में बतौर शिक्षक शामिल हुए थे तब उनके क्लास में मात्र 6 विद्यार्थी थे। लेकिन खान सर के पढ़ाने की यूनिक स्टाइल विद्यार्थियों में लोकप्रिय होने लगी और बहुत ही कम समय में उनके क्लास में काफी ज्यादा विद्यार्थी पढ़ने के लिए आने लगे।

धीरे धीरे उस कोचिंग में हजारों की तादाद में विद्यार्थियों ने दाखिला ले लिया जिससे कोचिंग की कमाई काफी बढ़ गई और कोचिंग मैनेजमेंट वालो ने खान सर से अपना नाम और मोबाइल नंबर किसी को न बताने की अपील की जिसको वह मान गए। बाद में खान सर का बच्चों को काफी कम फीस में पढ़ाना कोचिंग मैनेजमेंट को पसंद नही आया जिससे की विवाद पैदा हो गया। उसके बाद उन्होंने वह कोचिंग छोड़ दी और दूसरे कोचिंग में शामिल हो गए। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में अपने पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के दौरान उन्होंने अलग अलग कोचिंग सेंटरों में पढ़ाया। उसके बाद वह मास्टर ऑफ साइंस (एम. एससी) में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद पटना शिफ्ट हो गए।

पटना शिफ्ट होने के बाद उनको अपनी कोचिंग सेंटर खोलने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। पटना में उनके नए पार्टनर्स ने उनका सारा पैसा हड़पना चाहा और एक समय ऐसा भी आ गया था कि उनके पास मात्र 40 रुपए बचा था। उस कठिन समय में उन्होंने अपने दिल की बात सुनते हुए वापस घर न जाने का फैसला किया। धीरे धीरे कर के उन्होंने अपनी कोचिंग खान जीएस रिसर्च सेंटर की स्थापना की। शुरू में उनके कोचिंग संस्थान में बहुत कम लड़के पढ़ने आते थे, लेकिन उनके पढ़ाने के तरीकों को विद्यार्थियों ने बहुत पसंद किया और उनकी कोचिंग लगातार तेजी से आगे बढ़ने लगी। अब तो स्थिति यह है कि उनके एक क्लास में पढ़ने के लिए विद्यार्थियों का हुजूम उमड़ पड़ता है।

एक बार में लगभग क्लास में 2000 से ज्यादा बच्चे क्लास लेते है और कुछ बच्चे जगह नहीं होने के कारण घंटो खड़े रहकर पढ़ते हैं। 2019 में छात्रों की संख्या ज्यादा होने के कारण उनके हितों को ध्यान में रखते हुए Khan Sir खान सर ने अपना कोचिंग खान जीएस रिसर्च सेंटर के नाम का एक यूट्यूब चैनल भी शुरू किया। वह यूट्यूब पर अपने अलग अंदाज में पढ़ाने की वजह से काफी लोकप्रिय हैं जिसमे वह किसी भी टॉपिक को अनोखे और चुटकुले अंदाज में बेहद ही सरलता से बच्चों को समझा देते हैं। खान सर का कहना है कि “यदि किसी बच्चे को पढ़ाना हो तो उसे उसकी भाषा में, आसान शब्दों में समझाइए। जैसे कोई बच्चा फिल्म देखकर आ रहा हो।

उसे जितना मजा फिल्म देखने के बाद आता हैं, उतना ही मजा उसे कोचिंग संस्थान से बाहर निकलने के बाद आना चाहिए। तभी कोई विद्यार्थी पढ़ाई को बोझ नहीं समझेगा।” उनके यूट्यूब चैनल पर करीब 15 मिलियन सब्सक्राइबर्स है जहा उनके अपलोड किए गए विडियोज पर मिलियंस में व्यूज आते हैं। उन्होंने लॉकडाउन में अपने कोचिंग का गूगल प्ले स्टोर पर एक एप्लिकेशन भी लॉन्च किया जिसपर उनके ऑनलाइन क्लासेज को बच्चे बड़े चाव से अटेंड करते हैं। कभी कभी तो स्टूडेंट्स की संख्या इतनी ज्यादा होती है कि उनका ऐप क्रैश कर जाता हैं। इसके अलावा खान सर ने जनरल साइंस, पॉलिटिकल साइंस जैसे कई महत्वपूर्ण विषयों की प्रतियोगी किताबें भी लिखी हैं जो की अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी ऑनलाइन ई कॉमर्स वेबसाइट पर मौजूद हैं।

Khan Sir Controversies खान सर पटना से जुड़े विवाद:

Khan Sir Controversy खान सर का विवादों से भी पुराना नाता रहा हैं। अभी उनके हाल फिलहाल विवादों की बात करे तो खान सर का आरआरबी एनटीपीसी सीबीटी 1 परीक्षा परिणाम के विश्लेषण का वीडियो देशभर में जमकर वायरल हो रहा है। इसमें Khan Sir खान सर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों और युवाओं को आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा परिणाम का कथित गड़बड़झाला, अपने हक के लिए लड़ने और आंदोलन करने के तौर तरीके समझा रहे हैं। वीडियो को उकसाने वाला मानकर प्रशासन ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है और कार्यवाही भी शुरू कर दी हैं। ऐसा नहीं है की खान सर इस बार पहली बार विवादों के आए हैं। इसके पहले वह अपने यूट्यूब विडियोज के चलते विवादों में घिर गए थे।

दरअसल पटना वाले Khan Sir youtube channel खान सर को जीएस के टॉपिक को देसी तरीके से आसान बना कर पढ़ाने में महारथ हासिल है। वे इन के वीडियोज बनाकर यूट्यूब पर डालते हैं। उनके यूट्यूब चैनल पर करीब एक करोड़ 40 लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर्स है। अब अपने इन्हीं विडियोज की वजह से खान सर विवादों में घिर गए थे। हुआ यूं कि 24 अप्रैल को फ्रांस-पाकिस्तान के संबंधों पर डाले गए उनके विडियोज के कुछ विवादित क्लिप्स वायरल होने लगे। जिसमे वे एक जगह बताते हैं कि पाकिस्तान में फ्रांस के राजदूत को देश से वापस भेजने के लिए विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं और इन विरोध प्रदर्शन में बच्चे भी हिस्सा ले रहे हैं। यहां पर विरोध प्रदर्शन करते बच्चे की तस्वीर को पॉइंट करते हुए खान सर बोलते (Khan Sir statement) हैं कि।

“ई रैली में ये बेचारा बचवा है. इसको क्या पता कि राजदूत क्या चीज होता है. कोई पता नहीं है. लेकिन फ्रांस को राजदूत को बाहर ले जाएंगे. इनको कुछ पता नहीं है. बाबू लोग, तुम लोग पढ़ लो. अब्बा के कहने पर मत आओ. अब्बा तो पंचर साट ही रहे हैं (माने बना ही रहे हैं). ऐसा ही तुम लोग भी करेगा तो बड़ा होकर तुम लोग भी पंचर साटेगा. तो पंचर मत साटो वरना तुमको तो पता ही है कि कुछ नहीं होगा तो चौराहा पर बैठकर मीट काटेगा तुम. बकलोल कहीं के. बताइए, ये उमर है बच्चों को यहां पर लाने का?”

वह आगे कहते हैं कि

“लेकिन क्या ही करिएगा? 18 19 पैदा होंगे तो किस काम में आएंगे? कोई बर्तन धोएगा, कोई बकरी काटेगा, कोई पंक्चर बनाएगा”।

Khan Sir Patna Age, Height & Body Measurements खान सर पटना की उम्र, ऊँचाई और शारीरिक माप:

Khan Sir age खान सर की उम्र साल 2022 में 28 वर्ष की हैं। वह एक जाने माने शिक्षक है जो स्टूडेंट्स को कोई भी टॉपिक बेहद सरल भाषा में समझने के लिए जाने जाते हैं। वह देखने में बेहद फिट इंसान लगते हैं और खाने में हरी साग सब्जियों को खाना पसंद करते हैं। इसके अलावा वह पौष्टिक चीजे भी लेते हैं जिससे वह स्वस्थ रह सके।

Khan Sir Patna Family Members खान सर पटना के माता पिता, पारिवारिक सदस्य और उनके रिलेशनशिप:

Khan Sir खान सर का जन्म एक मिडिल क्लास परिवार में हुआ था। उनका पूरा परिवार इस्लाम धर्म में विश्वास रखता है तथा अल्लाह के दरबार में इबादत भी करता हैं। Khan Sir father खान सर के पिता का नाम नहीं पता है लेकिन वह एक कांट्रेक्टर है और उनकी माता का नाम भी नहीं पता और वह एक गृहिणी हैं। खान सर के दादाजी इकबाल अहमद खान एक शिक्षक थे। वह भाटपार रानी में परमार मिशन स्कूल में एक शिक्षक के तौर पर बच्चों को शिक्षा दिया करते थे। उनके घर में माता पिता के अलावा एक बड़ा भाई भी है जो भारतीय फौज में एक कमांडो हैं। Khan Sir marriage उनके वैवाहिक स्थिति की बात करे तो उनकी सगाई हो चुकी हैं। उनकी मंगेतर बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) की पूर्व छात्रा हैं। लॉकडाउन की वजह से खान सर की शादी नही हो पाई हैं लेकिन स्थिति सामान्य होने पर वह जल्द ही शादी के बंधन में बंध जाएंगे।

Khan Sir Patna Net Worth खान सर पटना की नेट वर्थ:

Khan Sir net worth खान सर के टोटल नेटवर्थ की बात करे तो उनके कुल नेटवर्थ की जानकारी अभी तक उपलब्ध नहीं हैं। उनकी कमाई का मुख्य जरिया उनकी कोचिंग संस्थान है जिसमे वह बतौर शिक्षक शामिल हैं। उनकी लोकप्रियता काफी ज्यादा होने के कारण हजारों बच्चे पढ़ने आते हैं जिनसे वह एक मामूली फीस चार्ज करते हैं। इसके अलावा उनके कोचिंग का एक यूट्यूब चैनल हैं जिसपर करीब 15 मिलियन से अधिक सब्सक्राइबर्स है जहा वह ऑनलाइन क्लासेज के विडियोज अपलोड करते है जिसपर मिलियन्स में व्यूज आते है जिससे उनकी कमाई करीब हर महीने ₹15 लाख के आसपास होती हैं। वह अपने कमाई का ज्यादातर हिस्सा गरीबों और लोक कल्याण में दान कर देते हैं। वह अपने ऐप के माध्यम से भी सब्सक्राइबर्स के माध्यम से पैसा कमाते हैं।

1 thought on “Khan Sir Patna Biography in Hindi. खान सर पटना की बायोग्राफी हिंदी में।”

Leave a Comment